भारत की शीर्ष 10 घातक बीमारियां (Top 10 Killer Death Diseases in India)

भारत की शीर्ष 10 घातक बीमारियां (Top 10 Killer Death Diseases in India)

भारत, विश्व का क्षेत्रफल के हिसाब से 7 सबसे बड़ा देश है। अगर जनसंख्या कि दृश्टि से देखे तो यह दुनिया का 2 सबसे विशाल देश है। इसके पास दुनिया कि दुसरी सबसे बड़ी सेना है। विश्व के सबसे ज्यादा युवा भी भारत में ही है। इन सबके बावजूद भारत कि एक चौथाई जनता गरीबी रेखा से नीचे है। भारत के बारे में आप शायद हमसे बेहतर जानते होगें मगर आज हम आपको इस देश में 10 सबसे घातक बिमारियों के बारे में बताएंगे। जिन्होने भारत को हमेशा परेशान किया है।

  1. ह्रदय रोग (Cardiac Disese)

सुनने में भले ही आपको अटपटा लगे मगर ह्रदय रोग इस सूची में प्रथम स्थान पर है। एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में एक चौथाई मृत्यु का कारण ह्रदय रोग ही है। वैसे तो इसके कई कारण सामने रखे जाते हैं, मगर मोटापा, धुम्रपान, शराब का सेवन, तम्बाकू और उच्च कोलेस्ट्राल मुख्य कारण माने जाते हैं। ह्रदय रोग से बचने के लिए व्यक्ति को प्रतिदिन व्यायाम करने चाहिए और खानपान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। धुम्रपान, शराब का सेवन और तम्बाकू से दूर रहना चाहिए।

  1. सांस की बीमारी (Respiration Problems)

एक समय था जब भारत को लोग ऐसे देश की तरह जानते थे जहां ताजा हवा और स्वच्छ नदियां बहती हैं। मगर लगता है वो सिर्फ़ कहानियां ही बनकर रह गई हैं क्योंकि आजकल भारत की दूसरी सबसे घातक बिमारी श्वास संबंधित है। यह लगभग 11% जाने लेती है। भारत के महानगर दुषित हवा से सबसे ज्यादा पीड़ित हैं। व्यक्तिगत स्तर पर इससे बचने के लिये वाहनों का कम इस्तेमाल करना चाहिए। धुम्रपान नहीं करना चाहिए और धुम्रपान करने वाले व्यक्ति से दूर रहना चाहिए।

  1. डिप्रेशन (Depression)

यह बीमारी दिमागी है। और इसी वजह से घातक भी। डिप्रेशन पिछ्ले कुछ वर्षों में उभरकर सामने आई है। आजकल कि तेज दुनिया के साथ भागते-भागते लोग अपने आप पर ध्यान नहीं दे पाते। और असफलता मिलने के कारण डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं।

  1. कैंसर (Cancer)

इस बिमारी के बारे में शायद ही कोई व्यक्ति होगा जो नहीं जानता होगा। कैंसर कई प्रकार का होता है। जिनमे से ज्यादातर का अगर सही समय पर इलाज ना किया जाए तो जानलेवा हो सकते हैं।

  1. मधुमेह (Diabetes)

यह भारत में तेज़ी से फैलने वाली बिमारियों में से एक है | अधिकांश यह बीमारी बढ़ती उम्र के साथ होती है जब पैंक्रियास काम करना काम करदेती है और शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है | समय पर इलाज इसके उपचार के लिए बेहद जरूरी है।

  1. डायरिया या दस्त (Diarrhoea)

आमतौर पर यह रोग नवजात शिशु व बच्चों को हो जाता है। इसके कई कारण हो सकते हैं जेसे गंदा पानी व भोजन का उपयोग, बुखार या गर्मी लग जाना। ये बीमारी बच्चों के लिए सबसे घातक मानी जाती है, क्योंकि शरीर से जरूरी तत्व बड़ी तेजी से बह जाते हैं।

  1. मलेरिया (Maleria)

मच्छरों से फैलनेवाला यह रोग भारत को सबसे ज्यादा परेशान करता है। यह रोग बहुत घातक भी है क्योंकि हर साल मलेरिया से बहुत से लोग मौत की नींद सो जाते हैं। मच्छरदानियों का उपयोग व आसपास सफाई रखने से मलेरिया से बहुत हद तक बचा जा सकता है।

  1. एड्स (Aids)

इस बीमारी का इलाज नहीं बना है। या यूं कहा जाए कि बचाव ही इसका इलाज है तो कोई गलत ना होगा। यह रोग जानलेवा है। व्यक्ति को इस बीमारी से बचने के लिए हमेशा सचेत रहना चाहिए। असुरक्षित यौन संबंध, दूषित रक्त, दूषित सूई व औजार का इस्तेमाल से यह रोग फैलता है।

  1. कुष्ठरोग (Leprosy)

यह रोग भी जानलेवा होने के साथ-साथ संक्रमण से फैलता है। इसका कोई स्थाई इलाज नहीं है। यह रोग हड्डियों को गला देता है। इस रोग से पीड़ित व्यक्ति बड़ी कष्टदायक जिंदगी जीता है।

  1. कुपोषण (Malnutrition)

भोजन में पोषक तत्वों की कमी से यह बीमारी होती है। बच्चों, बुढ़ो और महिलाओं में यह बीमारी आमतौर पर देखी जाती है। पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्वों के उपयोग से इस बीमारी से बचा जा सकता है।

Comments

I am 21 years old boy from Faridabad, India. I am a freelance writer, blogger, and part-time singer.

%d bloggers like this: