शी जिनपिंग का उदय ! इससे भारत पर क्या असर पड़ेगा (Rise of Chinese General Xi Jinping from Secretary to King?)

शी जिनपिंग का उदय ! इससे भारत पर क्या असर पड़ेगा (Rise of Chinese General Xi Jinping from Secretary to King?)

शी जिनपिंग (Xi Jinping), जनवादी गणतंत्र चीन के सर्वोत्तम नेता और चीन के मौजूदा राष्ट्रपति हैं | शी जिनपिंग 14 मार्च 2013 को चीन के राष्ट्रपति घोषित किए गए थे | चाइना में राष्ट्रपति का कार्यकाल 5 साल का होता है और इस हिसाब से उनका कार्यकाल 14 मार्च 2018 को खत्म होना था |

परंतु अक्टूबर 2017 को 19th पार्टी कांफ्रेंस के दौरान कोई भी आने वाला राष्ट्रपति घोषित नहीं किया गया | और साथ ही एक नया संशोधन जारी किया गया| राष्ट्रपति के कार्यकाल की सीमा अनिश्चित होगी | इसका अर्थ यह है कि राष्ट्रपति के कार्यकाल को 5 साल से बढ़ाकर बिना सीमा कर दिया है | मतलब कि अगर किसी राष्ट्रपति की मृत्यु होती है, तो ही अगला राष्ट्रपति बनाया जाएगा | या फिर सरकार किसी कारण से सरकार गिर जाती है अथवा तख्तापलट हो जाता है |

शी (Xi Jinping) का वर्चस्व

चाइनीज मीडिया के लिए शी जिनपिंग एक आम नेता नहीं है | वह इस से बहुत ऊपर हैं | जितना भारत में नरेंद्र मोदी को सम्मान दिया जाता है उससे भी ज्यादा चीन में शी जिनपिंग को दिया जाता है | वह ना केवल भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ते हैं बल्कि चीन को विश्व स्तर पर उचित प्रतिष्ठा प्रदान करने की कोशिश करते हैं |

शी जिनपिंग के इस फैसले से चीन के लोग ज्यादा चिंतित नहीं है | वह जानते हैं कि चीन विश्व स्तर पर अपना रुतबा बिखेर रहा है और उसके

 

dragon,china

 

लिए उन्हें एक विश्वस्तरीय नेता चाहिए | हलाकि यह चीन के लोगों की स्वतंत्रता के अधीन है |

वही इस का भारत पर असर देखें तो वह लगभग समान ही रहेगा | भारत कल भी चीन से जूझ रहा था और आज भी जूझ रहा है | मुख्य बात यह है कि अब भारत किस नजरिए से चीन को देखता है |

भारत के लिए इसके मतलब

यकीनन भारत और चीन की सीमा पर तनाव कायम रहेगा | तनाव बढ़ सकता है परंतु कम होने के अभी कोई आसार नजर नहीं आ रहे हैं | साथ ही चीन भारत के पड़ोसी देशों के साथ रिश्ता बनाने की कोशिश करेगा |

पिछले कुछ सालों में निर्यात क्षेत्र में चीन भारत का प्रमुख प्रतियोगी रहा है | भारत को चीन के लिए लाल सीमाएं तय कर देनी चाहिए | शी जिनपिंग (Xi Jinping) के नेतृत्व में बीजिंग अब अपने हितों पर जोर देने के लिए अधिक आत्मविश्वास से आगे बढ़ेगा |

tiger, India

यु तो ड्रैगन और शेर दोनों की खूंखार माने जाते हैं लेकिन जब दोनों में लड़ाई होगी तो एक को हारना ही है। अच्छा होगा की दोनों अपनी दुरी बनाये रखें। इसके लिए शेर को दहाड़ने की जरूरत है। आप क्या कहते हैं?

 

वर्ल्ड पॉलिटिक्स पे Xi Jinping के पॉलिटिक्स प्रभाव

ये सच है की पूरी दुनिया चीन से परेशान रहती है. हाल ही में अर्जेंटीना में चीन के जहाज चोरी से मछली ले जा रहे थे (चीनी चोर) | अर्जेंटीना के तट रक्षक ने अपने बयान में कहा था कि चीनी जहाजों केवल देश के विशेष आर्थिक क्षेत्र की सीमाओं का उल्लंघन करने वाले नहीं हैं, जो समुद्र के कानून पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन द्वारा निर्धारित देश के तट से 200 समुद्री मील तक फैला हुआ है। साउथ एशिया में तो आये दिन सारे देश परेशान रहते हैं। ये सब शी के आने पे ज्यादा हो गया है। चीन पुरे दुनिया पे अपना राज कायम करना चाहता है ये बात किसी से छुपी नहीं है। अमेरिका तो पहले से ही चीन के क़र्ज़ में डूबा हुआ है। आगे के पोलिटिकल क्लाइमेट काफी डरावना लग रहे हैं

 

Wall Street Journal on Xi’s move

Comments

I am 21 years old boy from Faridabad, India. I am a freelance writer, blogger, and part-time singer.

%d bloggers like this: