Sexual Abuse in Olympics (ओलिंपिक खेलों में यौन शोषन)

Sexual Abuse in Olympics (ओलिंपिक खेलों में यौन शोषन)

“ओलिंपिक खेलों में यौन शोषन” (Sexual Abuse in Olympics ) इस शब्द को व्याख्या कि जरूरत नहीं है । हर रोज कोइ न कोइ पीड़ित व्यक्ति न्याय पाने के लिए अपनी आप बीती लेकर गुहार लगाता है । और बहुत से पीड़ित तो सामने भी नहीं आ पाते । इस वजह से अन्दाज़ा लगाना मुश्किल है कि असल में कितने व्यक्ति यौन उत्पीड़न के शिकार होतें हैं । स्त्री हो या पुरुष यौन उत्पीड़न दोनो का ही होता है। मगर हां, स्त्री, पुरुषों की तुलना में ज्यादा शोषित होती हैं । कैसी विडम्बना है कि लगभग 90% यौनशोषन, पीड़ित के करीबी रिश्तेदार या जान-पहचान वाले ही करते हैं । कभी-कभी तो अपराधी एक ही छत के नीचे रहने वाला व्यक्ति होता है । हालांकि यौनशोषन के मामले हर जगह से आते हैं जैसे स्कूल, कॉलेज, कार्यालय आदि मगर आज हम केवल ओलिंपिक खेलों में यौन शोषन पर बात करेंगे ।

यौन शोषन क्या है? (What is Sexual Abuse)

यौनशोषन एक ऐसा कुकर्म है जिसमें अपराधी पीड़ित को उसकी इच्छा के विरुद्ध शारीरिक या मानसिक रूप से शोषित करता है। इसमें यौन स्वभाव की ज़बरदस्ती, शरीर पर अनुचित टिप्पणी, यौन अनुग्रह के बदले में अवांछित या अनुचित लाभ का आश्वासन देना, या असहनीय मौखिक दंस कसना शामिल है। ये किसी के साथ कही भी हो सकता है ; अच्छे बुरे अमीर गरीब साधू फ़क़ीर कही भी कोई भी शिकार हो सकता है। यहाँ तक की हॉलीवुड में भी काफी महिलाओं को इसका शिकार होना पड़ा ।

me-too-hollywood

ओलिंपिक खेलों में यौन शोषन (Sexual Abuse in Olympics)

विश्व में खेल के सबसे बड़े मंच को भी कुचरित्र व्यक्तियों ने दुषित किया है। हाल ही में अमेरिका की महिला ओलिंपिक टीम की दो जिम्नास्टों ने जिम्नास्टिक टीम के डॉक्टर लैरी नासर पर लंबे समय तक उनका यौन शोषन करने का आरोप लगाया है । मगर मामला जब अदालत में पहुंचा तो और भी पीड़ित खिलाड़ी सामने आए । उनमें से बहुत से खिलाड़ियों ने खुलासा किया कि उनका शोषन तकरीबन 10 से 12 साल तक चलता रहा । लैरी नासर थैरेपी देने के बहाने महिला खिलाड़ियों से आपत्तिजनक हरकत करते थे और वह अपनी पहुंच का नाजायज फायदा उठाकर पीड़ित को परेशान करते थे ।

 

क्या और भी है उदाहरण?

यौन शोषन के मामले खेल के मैदान से बहुत कम सुनने को मिलते हैं मगर खिलाड़ियों की मानें तो यौन शोषन का शिकार लगभग हर महिला खिलाड़ी हो ही जाती है । कोच, ट्रेनर, टीम डाँक्ट्र, सीनियर खिलाड़ी यहां तक की साथ के पुरुष खिलाड़ी भी महिला खिलाड़ियों का यौन उत्पीड़न करने से नहीं झिझकते। महिला खिलाड़ी को खेल में आगे बढ़ने के लिए बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है । अगर ओलिंपिक खेलों में यौनशोषन के मामलों की बात करें तो कई और उदाहरण दिए जा सकते हैं । आँस्ट्रीया के भूतपूर्व कोच चार्ली काह्र पर कई महिला खिलाड़ियों ने आरोप लगाया था की उन्होंने 1960 के दशक में कई महिलाओं का योन शोषण किया था। वह खिलाड़ियों के चयनकर्ता होने का नाजायज फायदा उठाते थे।

एक और उद्दाहरण है जोअरियाना कुकोर्स का, जो कि एक भूतपूर्व ओलिंपिक महिला तैराक थी | उन्होंने अपने कौच सीन हचिंसन पर योन शोषण का आरोप लगाया था । कुकोर्स का कहना है कि उनका 16 साल कि कच्ची उमर में उनके कौच ने बहुत शोषन किया था। वह कहती हैं कि हचिंसन उनकी अश्लील तस्वीरें खींच कर उन्हें परेशान करते थे साथ ही वह उनके साथ शारीरिक सम्बंध बनाने के लिए दवाब डालते थे। हाल ही में Haley & Michaels ने एक वीडियो गाना भी रिलीज़ किया है जिसमे महिला शोषण को उजागर किया है ।

आखिर कब तक चलता रहेगा ? (How long will Sexual Abuse in Olympics last?)

यौन शोषन हमेशा से ही होता रहा है इसमें कोई दो राय नहीं है। मगर इसकी वजह क्या है। जितने भी मामले सामने आए हैं और जो खिलाड़ियों से सुनने से पता चला है उसमें 90% मामले कौच और सेलेक्शन कमेटी के सदस्यों द्वारा किए गये हैं। इससे यह बात तो साफ़ हो जाती है कि वह अपने ओदे का नाजायज फायदा उठाते हैं। वह महिला खिलाड़ियों के चुनाव मे शारीरिक संबंध बनाने कि शर्त तक रखतें हैं। यह बहुत ही निराशाजनक बात है। इस कुरीति से तभी बचा जा सकता है अगर कड़े से कड़े कानून बनाएँ जाए और उन्हें कठोरता से लागू किया जाए । कानूनों का उल्लंघन करने वाले को कड़ी सजा दी जाए । और चयन प्रक्रिया में ज्यादा से ज्यादा सुधर किया जाये |

mee-too

अभी हाल ही में ओलिंपिक फाउंडेशन ने यौन उत्पीड़न को रिपोर्ट करने के लिए 10 सेण्टर खोले हैं | पिछले साल से #MeToo मूवमेंट चल रहा है ट्विटर पे जिसके करोडो शेयर हुए हैं। अगर आप किसी को जानते हैं जो इसका शिकार है तो #MeToo ट्वीक कीजिये, आपको कोई न कोई मदद ज़रूर मिलेगा | मेटू मूवमेंट वेबसाइट पे भी आप रिपोर्ट कर सकते हैं।

 

 

Comments

I am 21 years old boy from Faridabad, India. I am a freelance writer, blogger, and part-time singer.

%d bloggers like this: