जानिए कैसे हमारा मीडिया बिका हुआ है (How media is sold?)

biased Indian Media

न्यूज़ चैनल्स की भरमार

भारत में 30 से भी अधिक हिंदी और अंग्रेजी भाषा के प्रख्यात न्यूज़ चैनल (Media Channels) हैं | आमतौर पर हमें यह अक्सर देखने को मिलता है कि कुछ न्यूज़ चैनल चुनिंदा पार्टियों के समर्थन (bias?) में रहते हैं | और अक्सर (or always?) ऐसा लगता है कि मीडिया निष्पक्ष तौर पर अपना कार्य नहीं कर रहा है |

यह कहना गलत नहीं होगा कि हर न्यूज चैनल की यह अपनी इच्छा है कि वह किस राजनीतिक पार्टी का समर्थन करता है साथ ही देखने वाले लोगों की भी यह अपनी निजी इच्छा है कि वह उस चैनल को देखें या ना देखें | आप जिस राजनीतिक पार्टी के समर्थक हैं आप उसके हित वाले चैनल देख सकते हैं |

तो आइए जानते हैं कौनसा मीडिया किस तरफ झुका हुआ है (Follow the money!)

न्यूज़24 - यह चैनल राजीव शुक्ला नियंत्रित करते हैं | जी हां वही राजीव शुक्ला जो की स्टेट पार्लियामेंट्री अफेयर्स एंड प्लानिंग के मिनिस्टर है साथ ही रहे भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव भी हैं | आमतौर पर हमको देखने को मिलता है कि न्यूज़24 चैनल का झुकाव कांग्रेस पार्टी की तरफ रहता है |

इंडिया न्यूज़ - इस न्यूज़ चैनल के मालिक हैं कार्तिकेय शर्मा | कार्तिकेय शर्मा कांग्रेस लीडर विनोद शर्मा के सुपुत्र हैं | साथ ही आप को एक बात और बता दें कि जेसिका लाल मर्डर केस में जिस मनु शर्मा को उम्र कैद की सजा हुई थी वह कार्तिकेय शर्मा के सगे भाई थे | यकीनन तौर पर ही यह न्यूज़ चैनल भी कांग्रेस पार्टी की तरफ झुका हुआ नजर पड़ता |

ज़ी न्यूज़ - इस न्यूज़ चैनल के चेयरमैन सुभाष चंद्र खुलेआम अपने आपको भारतीय जनता पार्टी का समर्थक कहते हैं | हालांकि यह चैनेल पहले कांग्रेस को भी सपोर्ट किया करता था परंतु साल 2014 में कोयले घोटाले में जिंदल के साथ नोकझोंक के बाद यह चैनल भारतीय जनता पार्टी को सपोर्ट करने लगा |

एनडीटीवी - यह न्यूज़ चैनल भी कांग्रेस और कम्युनिस्ट की तरफ झुका हुआ है | इस चैनल के संवाददाता अक्सर भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ खड़े हुए नजर आते हैं | बरखा दत्ता जो काफी साल एनडीटीवी के लिए काम कर चुकी है, वह तो कई बार बीजेपी नेताओं से नोकझोंक कर चुकी हैं |

टाइम्स नाउ - यह अंग्रेजी न्यूज़ चैनल फिलहाल भारतीय जनता पार्टी को समर्थन कर रहा है | 2014 से पहले यह कांग्रेस पार्टी की तरफ झुका हुआ नजर आता था | हलाकि आजकल अधिकांश न्यूज़ चैनल बहती गंगा में हाथ धोते हैं जो पार्टी सत्ता में होती है उसका समर्थन करते हैं | सब पैसे का खेल है, the media is sold!

इंडिया टुडे - यह न्यूज़ चैनल आम आदमी पार्टी को बहुत करीब से समर्थन देता है | इसके अलावा यह एंटी मोदी भी नजर आता है | साथ ही यह न्यूज़ चैनल कांग्रेस विचारधारा का समर्थन करता है |

इसके अलावा आईबीएन लोकमत, सीएनएन-आईबीएन जैसे बड़े न्यूज़ चैनल कांग्रेस पार्टी की तरफ झुके हुए नजर आते हैं | वहीं भारतीय जनता पार्टी की बात करें तो इंडिया टीवी, एबीपी न्यूज़ बीजेपी की ओर रुझान रखते हैं |

फिर किस न्यूज़ चैनल पे भरोसा करें? (Can we even trust anyone?)

तो देखा आपने किस तरह भारत का अधिकांश मीडिया निष्पक्ष तरीके से अपना कार्य नहीं करता और किसी ना किसी पार्टी के लिए झुका हुआ नजर आता है | क्वोरा पे ये प्रश्न पूछने पर काफी लोगों ने अपने राय दिए |

कुछ कह रहे हैं की ABP कुछ Aaj Tak तो फिर कुछ सभी की बुराई कर रहे हैं|

भारत का नंबर वन न्यूज चैनल आज तक कुछ हद तक, पूर्ण रुप से नहीं परंतु कुछ हद तक निष्पक्ष तौर पर कार्य करता है और किसी भी पार्टी का खुले-आम समर्थन नहीं करता |

https://www.quora.com/Indian-media-Which-news-channel-is-the-closest-to-unbiased-journalism-and-truth

ट्विटर पे तो यहाँ तक की लोगो ने #ShutUpSoldMedia करके हैशटैग ही बना दिया है.

तो फिर क्या करें

आपने देखा होगा की मीडिया न्यूज़ को काफी हाइप करके दिखती है | तो हमारी राय ये है की आप media का मज़ा लीजिये बस seriously मत लीजिये | आजकल kaafi ब्लोग्स हैं और इंटरनेट बेस्ड मीडिया हॉउस हैं जैसे की अर्नब ने रिपब्लिक टीवी  खोला है वहां पे उतना कचरा नहीं है तो वो आप देख सकते हैं. You can watch him on hotstar