IPL से BCCI और Team Owner पैसे कैसे कमाते हैं ?

IPL Earning

IPL (इंडियन प्रीमियर लीग ) को 10 साल पूरे हो चुके है, साल 2018 में आईपीएल का ग्यारवां संस्करण शुरू होने जा रहा है, इसको आईपीएल 2.0 भी कहा जा रहा है क्यूंकि इसमें दो साल रही टीम चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स वापसी कर रही हैं।

आपने देखा होगा कि IPL में किस तरह से एक एक क्रिकेटर करोड़ो की निलामि पर बिकता है।  ऐसे में क्या आपने कभी सोचा है कि IPL से टीम मालिक और BCCI पैसा कैसे कमाते है ?

IPL में अरबो रुपये (billions of dollars) खर्च होते है। BCCI इतना सब कुछ करती है फिर उनको पैसा मिलता कहा से होगा ?

अगर आप यह सोच रहे है कि IPL के स्टेडियम के जो टिकट बिकते है उससे इन सबके लिए Earning होती होगी, तो आप बहुत गलत सोच रहे है। वह तो सिर्फ और सिर्फ 10% है।

तो अब सवाल उठता है कि इनके पास बाकी का पैसा कहा से आता है ? मैं आपको बता दु की IPL की शुरुआत 2007 में हुई थी। इसकी शुरुआत करने वाले थे ‘ललित मोदी’ (Lalit Modi) जिनका बहुत ही शानदार आईडिया था कि ‘क्रिकेटर को, एंटरटेनमेंट को और बिजनेसमैन को’ यानी कि तीनों को एक साथ जोड़कर उन्होंने बनाया ‘एंटरटेनमेंट का एक बहुत शानदार तरीका‘।

यानी कि कुल मिलाकर ‘आईपीएल केवल और केवल एंटरटेनमेंट के लिए बना है।’ आईपीएल की ब्रांड वैल्यू आज 27,000 करोड़ रुपये है।

IPL से BCCI और Team Owner के पैसे कमाने के ज़रिये 

1. मीडिया राइट्स : मीडिया राइट्स सबसे पहला तरीका है। BCCI की अधिकांश कमाई इसी तरीके से होती है। BCCI मीडिया राइट (media rights) के लिए ऑक्शन आयोजित करती है, जिसमें कई सारे TV चैनल भाग लेते हैं । जैसे कि शुरू के 10 सालों में यह मीडिया राइट Max के पास था। और इस साल से यह मीडिया राइट् Star Sports के पास है ।

16,347.5 करोड़ रुपए में Star Sports ने यह मीडिया राइट अगले 5 साल के लिए खरीदा है। अब आपके मन में सवाल आया होगा कि जो चैनल मीडिया राइट खरीदता है वह पैसे कैसे कमाता होगा।  तो दोस्तों वह चैनल जो मैच के दौरान एडवर्टाइजमेंट दिखाता है मैं उस चीज के एडवर्टाइजमेंट कंपनियों से पैसे लेता है।  पैसे की कीमत एडवर्टाइजमेंट (advertisement) की लंबाई से होती है।

2. ब्रांड स्पॉन्सरशिप : दूसरा तरीका है ब्रांड स्पॉन्सरशिप, इस तरीके से बीसीसीआई और टीम ओनर दोनों की ही कमाई होती है।  जैसे कि अब से पहले DLF, Pepsi, VIVO, IPL की स्पॉन्सरशिप कर चुके हैं ।

वहीं दूसरी ओर टीम ओनर सपने जर्सी पर किसी ना किसी कंपनी ब्रांड या लोगों को दिखाते हैं जिससे वह स्पांसरशिप लेते हैं।  टीम मालिकों को अपनी धरती पर किसी भी कंपनी का प्रचार करने के पैसे मिलते हैं।

3. अन्य छोटे ज़रिये – इसके अलावा कई अन्य तरीके हैं जिनके जरिए BCCI और Team Owner पैसे कमाते हैं परंतु ऊपर दिए गए दो कारण ही मुख्य आमदनी के कारण हैं।

अन्य कारणों में शामिल हैं ब्रांड वैल्यू, मैच टिकट्स, टी-शर्ट सेल्लिंग, फ़ूड एंड ड्रिंक्स स्पॉन्सरशिप और भी बोहत सारे।

IPL केवल मनोरंजन और पैसों के लिए शुरू किया गया था । हालांकि पिछले कुछ सालों में आईपीएल ने भारत को कई बेहतरीन खिलाड़ी प्रदान करें हैं जिनमें हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) और जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) जैसे खिलाड़ी शुमार हैं।

वर्चुअल रियलिटी क्या है? What is Virtual Reality and its Future